हमें फॉलो करें - Facebook Twitter

बेटे की याद में बनवाया शेड, बेटे की इच्छा को पिता ने किया पूरा, जनता को किया सर्मपित

चन्द्रकान्त पारगीर
27 December 2021 11:14 AM IST
Updated: 27 December 2021 11:19 AM IST

अल्प आयु में पुत्र की मौत के बाद पिता के उपर दुखों का पहाड़ टूट पडा, बेटे की इच्छा थी वो नौकरी पाकर लोगों की सेवा करें, पिता ने बेटे की याद में खडगवां तहसील कार्यालय प्रांगण में शेड निर्माण कराया, गमगीन माहौल के बीच बेटे की पुण्य तिथी पर बेटे की स्मृति में एसडीएम सहित कई अधिकारियों को लोगों की उपस्थिति में आम लोगों के लिए सर्मपित कर दिया।

शेयर करें Facebook Twitter WhatsApp


जनता को सर्मपित किया शेड

कोरिया जिले के बचरापोडी निवासी चंद्रभूषण चक्रधारी के पुत्र स्व आदित्य चक्रधारी की अल्पायु में कोटा में निधन हो गया था, 24 दिसंबर को खड़गवां तहसील प्रांगण में पुत्र की स्मृति में निर्मित शेड का लोर्कापण मुख्य अतिथि सुदशिया बाई, एसडीएम बहादूर सिंह मरकाम, डिप्टी कलेक्टर मूलचंद चोपड़ा, तहसीलदार सुधीर खलखो, नायब तहसीलदार भगवान दास कुशवाहा, बीईओ डीडी मिश्रा, कानूनगो शिवकुमार यादव सहित कई गणमान्य लोगों की उपस्थित मंे सम्पन्न हुआ। लोर्कापण पश्चात स्व आदित्य चक्रधारी को उपस्थित अतिथियों के साथ लोगो ने श्रृद्धासुमन अर्पित किए। इस अवसर अधिवक्ता व समाज सेवी चंद्रभूषण चक्रधारी ने बताया कि उनका पुत्र बेहद मेधावी था, यही कारण है उसकी पढ़ाई पर उन्होनें विशेष ध्यान दिया और उसे बाहर अध्ययन के लिए भी भेजा, पुत्र का सपना था कि वो पढ़़ लिखकर सर्विस में आए और लोगों की सेवा करें, गांव की सड़क निर्माण करने का भी उसका सपना था। असमय मौत के बाद मुझे उसकी बातें रह रहकर याद आती रही, जिसके बाद मैने फैसला लिया कि तहसीलदार कार्यालय के प्रांगण में शेड का निर्माण करवाउंगा, जो आज उसकी स्मृति में लोकार्पित हुआ है। मुझे यह शेड आम लोगों के लिए शासन का सौपते वक्त बेटे की बातें याद आ रही है। कार्यक्रम में उपस्थित लोग उनकी बातें सुनकर भावुक हो गए थे। इस अवसर पर निलेश जायसवाल, विशाल श्रीवास्तव, जीवनलाल सिरदार, अशोक श्रीवास्तव, जनपद उपाध्यक्ष भूवनेश्वर साहू के साथ काफी संख्या मंे लोग उपस्थित रहे।

दिखाई है बड़ी हिम्मत

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों ने एक स्वर में बेटे की स्मृति में शेड निर्माण की श्री चक्रधारी की भूरी भूरी प्रशंसा की, और कहा कि उन्होनें ऐसा करके बेटे की याद को ताजा कर दिया है, साथ ही इस शेड की यहां बेहद जरूरत थी, इसके निर्माण से दूर दूर से आने वाले लोगों का काफी राहत मिलेगी।


सम्बन्धित श्रेणियां -




















शेयर करें Facebook Twitter WhatsApp